Dastak Hindustan

LoC पर पाकिस्तानी आतंकियों को नहीं करने देंगे घुसपैठ, बीएसएफ के आईजी ने कहा – कश्मीर में सुरक्षा बल अलर्ट

श्रीनगर (जम्मू कश्मीर): – गर्मीयों के दिनों में कश्मीर घाटी में बर्फ के पिघलने के साथ ही नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ बढ़ जाती है| इन आतंकियों की घुसपैठ को रोकने के लिए सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) समेत तमाम सुरक्षा एजेंसियां और अर्द्धसैनिक बल अलर्ट मोड में आ गए हैं|

बीएसएफ ने शनिवार को कहा कि बर्फ पिघलने से कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर आतंकवादियों की घुसपैठ की संभावना बढ़ जाती है, लेकिन सुरक्षा बलों ने ऐसी किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए अपनी तैयारी तेज कर दी है|

नियंत्रण रेखा पर अलर्ट है बीएसएफ

 

कश्मीर में बीएसएफ के महानिरीक्षक (आईजी) अशोक यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हम नियंत्रण रेखा पर अलर्ट हैं| हम सेना के साथ संयुक्त रूप से क्षेत्र में प्रभुत्व कायम रखने और घुसपैठ रोधी भूमिका निभाते हैं. कुछ क्षेत्रों में बर्फ पिघलनी शुरू हो गई है, जिससे वहां घुसपैठ की स्थिति बनती है| हम इन क्षेत्रों पर नजर रखते हैं और फिर नए ढंग से अपनी तैनाती करते हैं| उन्होंने कहा कि बर्फ के पिघलने से घुसपैठ की संभावना बढ़ जाती है, लेकिन हमने ऐसी किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए अपनी तैयारी भी तेज कर दी है|

नशीले पदार्थ और हथियारों की खेप पर पैनी नजर

 

बीएसएफ के आईजी अशोक यादव ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से घाटी में नशीले पदार्थ और हथियार की खेप भेजने की किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए सुरक्षा बल सक्रिय रूप से नियंत्रण रेखा पर काम कर रहे हैं| उन्होंने कहा कि हम सीमा पार से घाटी में नशीले पदार्थों, हथियारों और आतंकवादियों को धकेलने के लिए किए जा रहे प्रयासों से निपटने के लिए गंभीरता से काम कर रहे हैं|

अमरनाथ यात्रा होगी शांतिपूर्ण

 

आगामी अमरनाथ यात्रा के बारे में पूछे जाने पर अशोक यादव ने कहा कि बीएसएफ शांतिपूर्ण तीर्थयात्रा सुनिश्चित करेगी| उन्होंने कहा कि अमरनाथ यात्रा जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश सरकार और जम्मू-कश्मीर पुलिस के दिशा-निर्देशन में विभिन्न एजेंसियों का एक समन्वित प्रयास है. हमें सौंपी गई भूमिका को हम अच्छी तरह से निभाते हैं| हम यह सुनिश्चित करेंगे कि यात्रा शांतिपूर्वक संपन्न हो|

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *