Dastak Hindustan

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर हुए IAS अधिकारियों का तबादले

लखनऊ:- उत्तर प्रदेश में आईएएस और आईपीएस अधिकारियों के तबादले का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में योगी सरकार ने प्रदेश में एक और बड़े प्रशासनिक फेरबदल कर दिया है। जिसमें कई आईएएस अधिकारियों को इधर से उधर किया गया है। शासन की ओर से जारी आदेश में फिरोजाबाद के डीएम रवि रंजन को हटाकर उनकी जगह गोंडा डीएम उज्ज्वल कुमार को लाया गया है।

2014 बैच के आईएएस अधिकारी रवि रंजन को जून 2022 में फिरोजाबाद का जिलाधिकारी नियुक्त किया था। इससे पहले वे प्रयागराज नगर निगम के नगर आयुक्त के पद पर कार्यरत थे। उन्हें सूर्यपाल गंगवार की जगह फिरोजाबाद का कलेक्टर बनाया गया था। गंगवार फिलहाल राजधानी लखनऊ के जिलाधिकारी हैं।

2012 बैच के आईएएस अधिकारी उज्जवल कुमार फरवरी 2022 से गोंडा डीएम के पद पर कार्यरत हैं। उन्हें राज्य में आचार संहिता लागू होने के बाद चुनाव आयोग ने जिले की कमान सौंपी थी। उज्जवल कुमार तब विशेष सचिव आईटी के पद पर कार्यरत थे।

2010 बैच की महिला आईएएस अधिकारी नेहा शर्मा की एक बार फिर जिलाधिकारी के पद पर वापसी हुई है। बीते साल जून में कानपुर में जब भयानक सांप्रदायिक हिंसा भड़का था, तब नेहा शर्मा ही वहां की डीएम थीं। इसके बाद उन्हें डीएम के पद से हटाकर नगरीय निकाय विभाग का निदेशक बना दिया गया। अब एकबार फिर राज्य सरकार ने उन्हें जिलाधिकारी का पद दिया है। शर्मा गोंडा की अब नई डीएम होंगी।

अन्य अधिकारयों में 2014 बैच के अधिकारी गिरिजेश त्यागी भी शामिल हैं। त्यागी फिलहाल उच्च शिक्षा विभाग में विशेष सचिव के पद पर कार्यरत हैं जहां से उनका तबादला अमरोहा के कलेक्टर के पद पर कर दिया गया है। जून 2022 में नेहा शर्मा को हटाकर कानपुर की डीएम बनाई गईं विशाख जी के पास अब कानपुर विकास प्राधिकरण का अतिरिक्त प्रभार होगा।

विवादों में चल रहे कानपुर विकास प्राधिकरण के VC अरविंद कुमार सिंह को योगी सरकार ने बड़ी जिम्मेदारी दी है। 2015 बैच के अधिकारी सिंह को अमरोहा का कलेक्टर बनाया गया है। उनके खिलाफ शासन स्तर पर एक जांच भी चल रही है।

ऐसी ही अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *