Dastak Hindustan

चक्रवाती तूफान बिपरजाॅय के कारण वलसाड में तेज हवा के साथ उठी ऊंची लहरें

गांधीनगर (गुजरात) :- चक्रवाती तूफान बिपरजाॅय के कारण वलसाड में तेज हवा के साथ ऊंची लहरे उठती हुई दिखी। चक्रवात बिपरजॉय को लेकर गुजरात समेत कई राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है। ऐसी स्थिति के मद्देनजर पीएम नरेंद्र मोदी ने एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की जिसमें उन्होंने अधिकारियों के साथ चक्रवात की स्थिति और निगरानी पर चर्चा की।

चक्रवात बिपरजाॅय अरब सागर में केंद्रित है। यह पोरबंदर के दक्षिण-पश्चिम में लगभग 450 किमी की दूरी पर है। हमारा पूर्वानुमान इसके उत्तर में बढ़ने का है। यह 15 जून की दोपहर तक कच्छ के तट को पार करेगा जिसकी रफ्तार 125-135 किमी प्रति घंटा का पूर्वानुमान लगाई है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय महापात्रा ने बताया कि 15 जून को सबसे अधिक खतरा है और सब लोगों को घर के अंदर सुरक्षित स्थान पर रहें। इसके आने से पेड़, बिजली के खंबे, सेलफोन टॉवर उखड़ सकते हैं जिसकी वजह से बिजली और दूरसंचार में व्यवधान आ सकता है। इसकी वजह से खड़ी फसलों का भी नुकसान होगा।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने चक्रवाती तूफान के मद्देनजर सौराष्ट्र और कच्छ तटों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। तूफान के कारण वलसाड में तेज हवा के साथ ऊंची लहरें उठती हुई दिखाई दे रही है। मुंबई में भी हाई अलर्ट जारी किया गया है। तटीय इलाकों के आस-पास लोगों के जाने पर पूरी तरह से रोक है।

मौसम से जुड़ी अन्य खबरों को जानने के लिए क्लिक करें

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *