Dastak Hindustan

मिर्जापुर में बारात से लौट रहे बराती को बोलेरो चालक ने रौंदा, परिजनों ने किया हंगामा

मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश):-मिर्जापुर में बरात से लौट रहे व्यक्ति को मोदी और योगी की प्रशंसा करना पड़ गया भारी बारात से लौट रहे दूल्हे के चाचा को बोलेरो चालक ने गुस्से में रौंद दिया। गाड़ी में राजनीतिक चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी को लेकर हुए बहस से चालक गुस्से में था। घटना को अंजाम देने के बाद चालक वाहन छोड़ कर भाग गया।

परिजनों ने घटनास्थल पर सड़क जाम कर दीया

इस घटना से नाराज परिजनों ने घटनास्थल पर सड़क जाम कर दिया और जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को बुलाने की मांग करने लगे। मौके पर एडीएम शिव प्रताप शुक्ल पुलिस अधिकारियों के साथ पहुंचे और लोगों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया। बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया । मृतक के भाई की तहरीर पर विंध्याचल कोतवाली में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया।

कोलाही गांव निवासी राकेशधर दुबे के पुत्र प्रमोद कुमार दुबे की शादी प्रतापगढ़ के रानीगंज निवासी सोनिया पांडेय के साथ 11 जून को हुई। रविवार को बरात मिर्जापुर के राम जानकी पैलेस रीवा रोड पर गई थी। सोमवार की सुबह साढ़े चार बजे विवाह की रस्म समाप्त होने पर बराती की विदाई हुई। दूल्हे के चाचा राजेशधर दुबे (50) व कठवइया निवासी लाल जी मिश्रा महोखर निवासी धीरेंद्र कुमार पांडेय सहित कुछ और लोग एक बोलेरो में बैठे और घर के लिए निकल गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा से आक्रोशित हुआ चालक

रास्ते में राजनीतिक चर्चा होने लगी। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा की गई। प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, मोदी-योगी की तारीफ चालक अमजद पुत्र अजहर उर्फ कल्लू निवासी विजयपुर छानबे को बर्दाश्त नहीं हुआ और उसने विरोध में कुछ बातें कहीं जिसे लेकर राजेशधर दुबे ने पलटवार किया।

राजेशधर और चालक में फिर बहस हो गई

राजेशधर और चालक में कहासुनी होने लगी। गैपुरा चौराहा पर एक व्यक्ति को उतारने के बाद चालक बोलेरो लेकर अतरैला मार्ग की ओर जाने लगा। राजेशधर ने एक और व्यक्ति को महोखर छोडने को कहा। जिसपर चालक ने इंकार कर दिया। हालांकि वाहन बुकिंग करने वाले व्यक्ति से बात होने पर महोखर तक चालक छोड़ने चला गया। वाहन सवार व्यक्ति को उतारने के बाद राजेशधर और चालक में फिर बहस हो गई।

राजेशधर वाहन के सामने आ खड़े हुए

आक्रोशित चालक ने दरवाजा खोलकर राजेशधर को धक्का मारकर बाहर निकाल दिया। चालक ने कहा कि तुम्हें नहीं ले जाऊंगा। राजेशधर वाहन के सामने आ खड़े हुए और कहा कि क्यों नहीं ले चलोगे। इतने में चालक ने बोलेरो राजेशधर पर चढ़ा दिया। राजेशधर बोलरो के निचले हिस्से में फंसकर करीब 20 मीटर दूर तक घिसटते गए। मौके पर ही उनकी मौत हो गई।चालक ने ब्रेक लगाया और वाहन छोड़कर फरार हो गया।

वाहन में तीन छोटे बच्चे और बुजुर्ग बैठे थे।राहगीर व ग्रामीण घटना से हैरान हो गए। घटना की खबर गांव में पहुंचते ही पत्नी शैलकुमारी और बेटी पूजा को मिली तो वह दोनों बेहोश हो गई।

राजेशधर को दो पुत्र व एक पुत्री

राजेशधर के बेटे दिल्ली में रह कर व्यवसाय करते थे। परिवार भी दिल्ली रहता है। घटनास्थल पर पहुंचे परिजनों और ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। प्रशासनिक अधिकारियों के आने पर दो घंटे बाद जाम समाप्त हुआ। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इस तरह की अन्य जानकारी के लिए इस जगह को क्लिक करें

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *